दुनिया का 21 सबसे ज्यादा खतरनाक जहरीला सांप कौन सा है और उनका नाम

क्या आपने कभी सोचा है कि दुनिया में सबसे जहरीले सांप कौन से हैं? “दुनिया का सबसे जहरीला सांप कौन सा है?” यह एक ऐसा प्रश्न है जो लगभग हर व्यक्ति ने अवश्य पूछा है।

सांप अत्यधिक प्रभावी शिकारी होते हैं। सांपों की कुछ प्रजातियाँ जो शिकार और आत्मरक्षा के लिए जहर पर निर्भर रहती हैं, वे इतना जहरीला जहर देती हैं कि उनके आकार से कई गुना बड़े जानवरों की मौत हो सकती है।

उदाहरण के लिए, किंग कोबरा के काटने से एक हाथी की मौत हो सकती है। जानवरों की वजह से ज़्यादातर मौतें साँपों के काटने से होते हैं। हालांकि सभी सांप जहरीले नहीं होते, लेकिन जो होते हैं उनमें 30 मिनट के भीतर मौत देने की क्षमता होती है।

सांप लोगों पर हमला नहीं करते हैं। वे अक्सर चौंक जाते हैं या ऐसी स्थिति में आ जाते हैं जहां उन्हें अपना बचाव करने की आवश्यकता महसूस होती है। वे ऐसा केवल उन्हीं तरीकों से करते हैं जो उनके पास उपलब्ध होते हैं – भागना या काटना।

सांप हर जगह पाए जाते हैं। ऑस्ट्रेलिया के शुष्क रेगिस्तान से लेकर फ्लोरिडा के उष्णकटिबंधीय वनों तक। जिन लोगों को सांप काट लेता हैं, उन्हें सांप के काटने के कष्टदायक लक्षणों जैसे सांस लेने में कठिनाई, मतली, सुन्नता और अंग विफलता का अनुभव होता है।

यह मरने का सबसे दर्दनाक तरीका है। भले ही हमने एंटी-वेनम विकसित कर लिया है, जो सांप के जहर का काटा है। लेकिन अगर इलाज न किया जाए, तो जहरीले सांपों के काटने से अभी भी लोगों की जान जा सकती है।

दुनिया का 21 सबसे ज्यादा जहरीला सांप कौन सा है और उनका नाम

duniya ka sabse jahrila saap

जब तक जोखिम लेने की क्षमता न हो, कोई भी जहरीले सांप से मिलना नहीं चाहता। ये जीव दुनिया के सबसे खतरनाक जानवरों में से हैं। आंकड़ों के मुताबिक, हर साल सांप के काटने से औसतन 100,000 लोगों की मौत हो जाती है। यह एक चौंका देने वाली हकीकत है।

दुनिया भर में कई जहरीले सांप हैं, और कुछ दूसरों की तुलना में अधिक घातक हैं। दुनिया में सबसे जहरीले सांपों में ब्लैक माम्बा, रसेल वाइपर, किंग कोबरा और बैंडेड क्रेट आदि शामिल हैं।

यहां दुनिया के सबसे खतरनाक और जहरीले सांपों की एक क्यूरेटेड सूची है। तो आइए जानते हैं, दुनिया का सबसे जहरीला सांप कौनसा है?

1. इनलैंड ताइपन (Inland Taipan)

Inland Taipan

इनलैंड ताइपन को “बेहद जहरीला” सांप बताया गया है, जो इसे खतरनाक सांपों लिस्ट में पहला स्थान दिलाता है। इसलिए इसे दुनिया का सबसे जहरीला सांप भी कहा जाता है।

इसी वजह से इसे सबसे खतरनाक सांप कहा जाता है। इनलैंड ताइपन केवल ऑस्ट्रेलिया में, विशेष रूप से मध्य पूर्व में रहता है। आप इसे शुष्क क्षेत्र और काली मिट्टी के मैदानों में आसानी से देख सकते हैं।

इनलैंड ताइपन आमतौर पर दिन के दौरान सक्रिय होता है, लेकिन गर्म मौसम में यह रात में भी एक्टिव होता है। इस सांप के जहर में न्यूरोटॉक्सिन और हेमोरेजिक सहित बहुत सारे विषाक्त पदार्थ होते हैं।

इसका जहर इतना ताकतवर होता है कि 100 इंसानों को मार सकता है और काटने पर किसी व्यक्ति पर इसका असर कुछ ही मिनटों में शुरू हो जाता है। विशेषज्ञ सलाह देते हैं, कि जितना हो सके उतना इस सांप से बचना चाहिए।

2. कोस्टल ताइपन (Coastal Taipan)

Coastal Taipan

कोस्टल ताइपन को कॉमन ताइपन भी कहा जाता है और यह दुनिया के सबसे डरावने सांपों में से एक है। यह ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड की मूल प्रजाति है, जो तटीय क्षेत्रों में रहती है।

कोस्टल ताइपन जंगलों और वुडलैंड्स जैसे विभिन्न आवासों में पाया जाता है। कोस्टल ताइपन अपनी गति और खतरनाक जहर के लिए जाना जाता है, ये दो विशेषताएं इसे बहुत खतरनाक बनाती हैं।

यह अपने शिकार का पीछा कर सकता है और जब इसके नुकीले दांत शिकार पर लगते हैं तो यह कई बार काटता है। इसके काटने के लक्षणों में सिरदर्द, ऐंठन, मतली, हार्टफैलियर और किडनी फैलियर शामिल हैं।

3. किंग कोबरा (King Cobra)

king cobra snake in hindi

किंग कोबरा यकीनन दुनिया का सबसे लंबा जहरीला सांप है। यह पहली प्रजाति है, जिसका सामना सबसे अधिक इंसानों से होता है। यह एशिया का मूल स्नेक है। यह एकमात्र ऐसा स्थान है जहां यह पाया जाता है।

किंग कोबरा लोकप्रिय होने के साथ-साथ दुनिया का सबसे लंबा जहरीला सांप भी है। यह खुले जंगलों और मैंग्रोव दलदलों जैसे स्थानों की जलधाराओं में निवास करता है। किंग कोबरा अत्यधिक विषैला होता है, जिसमें न्यूरोटॉक्सिन और साइटोटॉक्सिन दोनों शामिल होते हैं।

हालाँकि यह शर्मीला है और इंसानों से दूर रहता है। फिर भी इसे छेड़ा जाए तो यह तुरंत हमला करता है। यह सांप कई बार काटता है और कुछ ही मिनटों में इंसान की जान ले लेता है। यह भारत का राष्ट्रीय सरीसृप भी है।

4. बैंडेड क्रेट (Banded Krait)

Banded Krait

बैंडेड क्रेट सबसे बड़ी क्रेट प्रजाति है और एशिया में पाई जाती है। आप इसे विशेष रूप से दक्षिणी चीन, भारतीय उपमहाद्वीप और दक्षिण पूर्व एशिया में देख सकते हैं। यह जंगलों और कृषि भूमि पर निवास करता है, हालाँकि यह यहीं तक सीमित नहीं है।

बैंडेड क्रेट का जहर बहुत घातक होता है क्योंकि इसमें न्यूरोटॉक्सिन होता है, जो पीड़ित को काटने के कुछ ही मिनट बाद नुकसान पहुंचाना शुरू कर देता है। इस जहर के लक्षणों में उल्टी, दस्त, चक्कर आना, दर्द और यहां तक कि किडनी फैलियर भी शामिल है।

सौभाग्य से बैंडेड क्रेट आक्रामक नहीं है। यह शर्मीला और एकांतप्रिय होता है। लेकिन फिर भी इसके अगर छेड़ा जाए तो यह सांप अपने खतरनाक जहर से किसी की भी जान ले सकता है।

5. सॉ-स्केल्ड वाइपर (Saw-Scaled Viper)

Saw-Scaled Viper

सॉ-स्केल्ड वाइपर का कॉमन नाम जीनस इचिस है। इसे कारपेट वाइपर भी कहा जाता है। यह सांप अफ्रीका, मध्य पूर्व, भारत, श्रीलंका और पाकिस्तान का मूल स्नेक है। वर्तमान में इसकी 12 प्रजातियाँ हैं, जिनमें सभी जहरीली हैं।

इसका जहर काफी शक्तिशाली है, जिसमें चार प्रकार के विषाक्त पदार्थ होते हैं: न्यूरोटॉक्सिन, कार्डियोटॉक्सिन, हेमोटॉक्सिन और साइटोटॉक्सिक। ये सभी सॉ-स्केल्ड वाइपर को एक घातक और जहरीला सांप बनाने में योगदान करते हैं।

यह सांप सबसे अधिक सर्पदंश और मौतों का कारण बनता है। अपने आकार के बावजूद यह बहुत आक्रामक है और कुछ ही घंटों में किसी की जान ले सकता है। भारत में इसके काटने के काफी मामले सामने आते हैं।

6. रसेल वाइपर (Russell’s Viper)

Russell's Viper

रसेल वाइपर भारत में पाया जाने वाला एक सांप है और इसे देश के चार बड़े सांपों में से एक के रूप में वर्गीकृत किया गया है। इसका नाम पैट्रिक रसेल नामक व्यक्ति के नाम पर रखा गया था, जिसने इस सांप के बारे में पहली बार लिखा था।

रसेल वाइपर हर प्रकार के आवासों के लिए अच्छी तरह से अनुकूलित हो जाता है, लेकिन घने जंगलों को पसंद नहीं करता है। रसेल वाइपर छलावरण में माहिर है, इसलिए यह छिपकर अटैक करता है।

अपने क्षेत्र में रहने के कारण यह अक्सर तब हमला करता है, जब उसे लगता है कि किसी ने उसके क्षेत्र पर अतिक्रमण कर लिया है। सांप के जहर में न्यूरोटॉक्सिन और हेमोटॉक्सिन दोनों होते हैं, जो इसे बहुत घातक बनाते हैं। इसके काटने के लक्षणों में तेज ब्लीडिंग, सदमा और किडनी फैलियर शामिल हैं।

7. ईस्टर्न टाइगर स्नेक (Eastern Tiger Snake)

Eastern Tiger Snake

ईस्टर्न टाइगर स्नेक दक्षिणी ऑस्ट्रेलिया का मूल नेटिव है। यह तटीय द्वीपों और तस्मानिया पर भी रहता है। इसका नाम इसके चारों ओर बाघ की तरह काली पट्टियों के कारण पड़ा है। टाइगर स्नेक आर्द्रभूमियों, बांधों और खाड़ियों में निवास करता है।

यह मुख्यतः स्थलीय है लेकिन तैरना जानता है। इसकी दो विशेषताएं ईस्टर्न टाइगर स्नेक को खतरनाक बनाती हैं: इसका जहर बहुत शक्तिशाली है, और यह काफी गुसैल और आक्रामक है।

इसके जहर न्यूरोटॉक्सिन, कौयगुलांट, हेमोलिसिन और मायकोटॉक्सिन का एक संयोजन है। लगभग 40 से 60% (उपचार न होने पर) की मृत्यु दर के साथ, टाइगर स्नेक को कभी भी छेड़ना नहीं चाहिए। इसके काटने के लक्षणों में झुनझुनी, सुन्नता, पसीना और कुछ क्षेत्रों में दर्द होने लगता हैं।

8. बूमस्लैंग (Boomslang)

Boomslang

बूमस्लैंग कोलुब्रिडे परिवार का एक सदस्य है, और हालांकि यह ब्लैक माम्बा जितना बड़ा नहीं है, लेकिन यह काफी लंबा होता है। यह केवल उप-सहारा अफ्रीका, मोजाम्बिक, नामीबिया, बोत्सवाना और दक्षिण अफ्रीका जैसे देशों में पाया जाता है।

बूमस्लैंग अपने परिवार के अन्य सदस्यों से भिन्न है जो किसी को नुकसान नहीं पहुंचाते हैं। इस सांप का जहर एक हेमोटॉक्सिन है जो आंतरिक और बाहरी दोनों तरह से रक्तस्राव का कारण बन सकता है।

मतलब इसके काटने के तुरंत बाद काटने के स्थान पर ब्लीडिंग शुरू हो जाती है। बूमस्लैंग के काटने से मानसिक विकार, सिरदर्द और मतली होती है। चूंकि इसका जहर हेमोटॉक्सिन है, इसलिए यह किसी भी इंसान की जान ले सकता है।

9. फेर-डी-लांस (Fer-De-Lance)

Fer-De-Lance

फेर-डी-लांस को टेरसीओपेलो भी कहा जाता है, यह एक पिट वाइपर प्रजाति है जो अमेरिकी महाद्वीप में रहती है। जिन देशों में यह रहता है उनमें मेक्सिको और वेनेजुएला शामिल हैं। यह विभिन्न प्रकार के वनों में निवास करता है, जैसे प्रीमोंटेन, क्लाउड, उष्णकटिबंधीय वर्षावन और सदाबहार वन।

इस साँप की छवि काफी डरावनी है। देखने पर यह एक दानव की तरह लगता है। यह बड़ा और विषैला दोनों है, इस संयोजन के कारण इसे “अल्टीमेट पिट वाइपर” नाम दिया है।

फेर-डी-लांस अपनी सीमा में रहता है। एकांत में रहते हुए भी, यह मनुष्यों के करीब रहता है और बचाव की स्थिति में काट लेता है। फेर-डी-लांस बूमस्लैंग की तरह हेमोटॉक्सिन जारी करता है।

10. ब्लैक माम्बा (Black Mamba)

Black Mamba

ब्लैक माम्बा एक लंबा सांप है, जिसे अफ्रीका में सबसे लंबा और दुनिया में दूसरा सबसे लंबा सांप माना जाता है। केवल किंग कोबरा ही इससे आगे है। यह उप-सहारा अफ्रीका के कुछ हिस्सों की मूल प्रजाति है, जहां जनसंख्या स्थिर है।

ब्लैक माम्बा वुडलैंड्स, झाड़ियों और अर्ध-शुष्क सवाना में निवास करता है। अपने नाम के बावजूद, ब्लैक मांबा शायद ही कभी काले होते हैं।यह सांप अत्यधिक विषैला होता है, जिसमें घातक न्यूरोटॉक्सिन होता है।

काटने के बाद जहर तेजी से काम करता है और 10 मिनट के भीतर लक्षण दिखाई देने लगते हैं। अगर समय पर इलाज न किया जाए तो 1 घंटे में रोगी की मौत होना निश्चित है। यह दिन के समय शिकार करता है।

काटने के बाद बोलने में तकलीफ, सांस की तकलीफ और शारीरिक नियंत्रण खोने जैसे लक्षण दिखाई देने लगते हैं। मारक औषधि के बिना, ब्लैक माम्बा का जहर घातक है। इसकी गति और लंबाई इसे एक दुर्जेय शिकारी बनाती है, इसलिए सावधान रहें।

11. बेलचर सी स्नेक (Belcher’s Sea Snake)

Belcher’s Sea Snake

इसके हाइड्रोफिस बेलचेरी और फैंट बैंडेड सी स्नेक भी कहा जाता है। यह एलापिड समुद्री सांप की एक बेहद जहरीली प्रजाति है। फ़ेंट-बैंडेड सी स्नेक या बेल्चर्स सी स्नेक अपने अत्यधिक विषैले जहर के कारण काफी खतरनाक और जहरीला है।

इसके जहर में न्यूरोटॉक्सिन और मायोटॉक्सिन का मिश्रण है। अच्छी बात यह है कि ये आक्रामक सांप नहीं हैं और काटने की रिपोर्ट बेहद दुर्लभ है। इस समुद्री साँप का नाम सर एडवर्ड बेल्चर के नाम पर रखा गया है जिन्होंने 1800 के दशक के मध्य में साँप की खोज की थी।

यदि आप न्यू गिनी, इंडोनेशिया, फ़िलिपींस, सोलोमन द्वीप या ऑस्ट्रेलिया में नहीं रहते हैं, तो आपका सामना इस सांप से नहीं होगा। इन क्षेत्रों में भी ये बहुत दुर्लभ दिखाई देते हैं। ये दुनिया के सबसे जहरीले सांपों में से एक हैं, लेकिन छिपकर रहना पसंद करते हैं।

12. फिलीपीन कोबरा (Philippine Cobra)

Philippine Cobra

फिलीपीन कोबरा स्पिटिंग कोबरा की एक अत्यधिक जहरीली प्रजाति है। फिलीपीन कोबरा, जिसे नॉर्थ फिलीपीन कोबरा या स्पिटिंग फिलीपीन कोबरा के नाम से भी जाना जाता है। यह विशेष रूप से फिलीपीन द्वीपों में पाया जाता है।

विशिष्ट सांप के आधार पर ये आम तौर पर 3 से 5 फीट तक लंबे होते हैं। जन्म के बाद इन्हें अपनी माँ के सहारे की आवश्यकता नहीं होती है। भले ही शिशु साँप का आकार 20 इंच से अधिक लंबा न हो।

हालाँकि इसका नाम अक्सर उत्तरी फिलीपीन कोबरा या स्पिटिंग वाले कोबरा को संदर्भित करता है। यहाँ आप साउथ फिलीपीन कोबरा भी देख सकते हैं, जो चमकीला पीला और काला होता है।

फिलीपीन कोबरा के विशिष्ट आहार में छोटे स्तनधारी, मेंढक, अन्य सांप, कृंतक और बहुत कुछ शामिल होते हैं। ये अक्सर दूसरे जानवरों के घौसलों में जाकर छोटे बच्चों और अंडों को खा जाते हैं।

13. कॉमन डेथ एडर (Common Death Adder)

Common Death Adder snake

डेथ एडर दुनिया के सबसे जहरीले सांपों में से एक है। जहर मारने की दवा के आविष्कार से पहले, इन साँपों द्वारा काटे गए अधिकांश लोगों की मृत्यु हो जाती थी और इनका काटना अभी भी घातक होता है।

डेथ एडर अन्य ऑस्ट्रेलियाई सांपों की तुलना में कोबरा से अधिक निकटता से संबंधित है। कॉमन डेथ एडर के नाम से भी जानी जाने वाली यह प्रजाति पूर्वी और दक्षिणी ऑस्ट्रेलिया के साथ-साथ पापुआ न्यू गिनी की मूल नेटिव है।

यह प्रजाति रेगिस्तानी इलाकों से बचती है लेकिन जंगली या घास वाले इलाकों में बहुतायत में पाई जाती है। ये सरीसृप अपने परिवेश में घुलने-मिलने में काफी माहिर होते हैं, जिससे वे छिपकर शिकार करते हैं। एक मादा डेथ एडर तीन से तीस से अधिक बच्चे पैदा कर सकती है।

14. ईस्टर्न ब्राउन स्नेक (Eastern Brown Snake)

Eastern Brown Snake

ईस्टर्न ब्राउन स्नेक ऑस्ट्रेलिया का मूल निवासी एक पतला, विषैला सांप है। ईस्टर्न ब्राउन स्नेक जबरदस्त गति से हमला करता है और ज़हर की एक शक्तिशाली मात्रा शिकार के शरीर में इंजेक्ट करता है।

हालाँकि यह एक काफी सामान्य साँप है, परंतु सौभाग्य से मनुष्यों के साथ इसका सामना दुर्लभ है। ईस्टर्न ब्राउन स्नेक का जहर दुनिया के किसी भी सांप के सबसे जहरीले जहर में से एक माना जाता है।

यह सांप 12 मील प्रति घंटे की अधिकतम गति तक पहुंच सकता है। यह दुनिया के सभी सांपों में सबसे कुशल शिकारियों में से एक है। ईस्टर्न ब्राउन स्नेक का वैज्ञानिक नाम स्यूडोनाजा टेक्स्टिलिस है।

15. रैटलस्नेक (Rattlesnake)

Rattlesnake

रैटलस्नेक अमेरिका के सबसे घातक विषैले सांपों में से एक हैं। इन सांपों में झुनझुने की एक विशेष क्षमता होती हैं, जिनका उपयोग ये शिकारियों को डराने के लिए करते हैं। ये सांप बहुत खतरनाक हैं। यह सांप जहरीला होता है और उसमें खड़खड़ाहट होती है।

वेस्टर्न डायमंडबैक रैटलस्नेक अमेरिका का सबसे बड़ा विषैला सांप है। अमेरिका में अब तक देखे गए इन सांपों में से सबसे बड़े सांप की माप संभवतः 94 इंच और वजन 34 पाउंड था। हालाँकि उस रिकॉर्ड को कभी भी ठीक से वेरीफाइड नहीं किया गया था।

इसलिए यह कहना मुश्किल है कि यह साँप अपनी प्रजाति में सबसे बड़ा था। यदि आपको रैटलस्नेक ने काट लिया है, तो आपको ठीक होने के लिए काफी बड़ी कीमत चुकानी होगी।

इसके एंटीवेनम की एक शीशी की कीमत लगभग 16,00,000 रुपए की होती है, और इस गंभीर चोट से उबरने के लिए आपको कई शीशियों की आवश्यकता होगी। इसलिए यह दुनिया का सबसे जहरीले सांप में से एक है।

16. कोरल स्नेक (Coral Snake)

Coral Snake

दुनिया भर में कोरल स्नेक की 80 से अधिक प्रजातियाँ हैं। कोरल स्नेक एलापिडे परिवार के अत्यधिक विषैले सांप हैं। ये पुरानी दुनिया और नई दुनिया के ग्रुप्स में विभाजित हैं, जिनमें से अधिकांश कम आबादी वाले क्षेत्रों में रहते हैं।

ये आम तौर पर छोटे सांप होते हैं, 2 से 4 फीट के बीच। एरिज़ोना कोरल स्नेक कभी-कभी पेंसिल से भी पतला होता है। पुरानी दुनिया के ग्रुप एशिया, भारत और दक्षिण पूर्व एशिया के द्वीपों में रहते हैं।

इन साँपों को तीन प्रजातियों में वर्गीकृत किया गया है, जिनमें लगभग 20 प्रजातियाँ हैं। इनका शरीर रंग पैटर्न के आधार पर बना होता है, जो  ज्यादातर काले-नीले रंग से लेक उनके सिर और पूंछ पर नारंगी रंग तक है।

नई दुनिया के कोरल स्नेक अमेरिका, दक्षिणी संयुक्त राज्य अमेरिका और पूरे मध्य और दक्षिण अमेरिका में रहते हैं। इनमें से कई में लाल, पीला और काला पैटर्न है लेकिन सभी में नहीं।

17. आइलैश वाइपर (Eyelash Viper)

Eyelash Viper

बोथ्रीचिस श्लेगेली, जिसे आमतौर पर आईलैश वाइपर के रूप में जाना जाता है। यहा वाइपरिडे परिवार में विषैले पिट वाइपर की एक प्रजाति है। यह प्रजाति मध्य और दक्षिण अमेरिका की मूल नेटिव है।

आईलैश वाइपर मध्य और दक्षिण अमेरिका में पाई जाने वाली एक विषैली पिट वाइपर प्रजाति है। आईलैश वाइपर का सिर चौड़ा, त्रिकोणीय आकार का होता है और आँखें ऊर्ध्वाधर पुतलियों वाली होती हैं।

आईलैश वाइपर दुनिया में सबसे तेज़ हमला करने वाले सांपों में से एक है और अपने जहर से किसी भी इंसान को मार सकता है। आईलैश वाइपर एकान्त में रहने वाले और रात को शिकार करने वाले प्राणी है। ये वृक्षवासी (पेड़ों पर रहने वाले) हैं और घनी वनस्पतियों में रहना पसंद करते हैं।

18. फॉरेस्ट कोबरा (Forest Cobra)

Forest Cobra

अपने खतरनाक जहर के कारण फॉरेस्ट कोबरा को दुनिया में सबसे अधिक जहरीले सांप में से एक माना जाता है। इनके तीन अलग-अलग रंग रूप हैं, जो पूरी तरह से उस क्षेत्र पर निर्भर करते हैं जिसमें वे रहते हैं।

फॉरेस्ट कोबरा (जिसे काले और सफेद होंठ वाले फॉरेस्ट कोबरा के रूप में भी जाना जाता है) इतना खतरनाक होने का कारण यह है कि जब यह काटता है तो यह बड़ी मात्रा में जहर छोड़ता है।

फॉरेस्ट कोबरा से भले ही किसी इंसान को काटने की संभावना काफी कम है, लेकिन अगर ये काटते हैं तो मृत्यु का जोखिम बहुत ज्यादा है। आमतौर पर ये लगभग 571mg जहर छोड़ते हैं, लेकिन प्रत्येक बार मात्रा अलग-अलग होती है। कुछ मामलों में ये 1102mg तक रिलीज़ करते हैं।

यदि आपको फॉरेस्ट कोबरा ने काट लिया है, तो आप शीघ्र ही पीटोसिस, उनींदापन, सुनाई नहीं देना, चक्कर आना, सदमा, दर्द, बुखार और दिमाग और श्वसन प्रणाली को प्रभावित करने वाले अन्य लक्षणों का अनुभव होता है।

19. बोथ्रॉप्स जराराका (Bothrops Jararaca)

Bothrops Jararaca snake

बोथ्रोप्स जराराका, जिसे जराराका या यारारा के नाम से भी जाना जाता है। यह दक्षिणी ब्राजील, पैराग्वे और उत्तरी अर्जेंटीना में दक्षिण अमेरिका में पाई जाने वाली अत्यधिक विषैले पिट वाइपर की एक प्रजाति है।

जराराका एक अत्यंत विषैला पिट वाइपर है जो दक्षिण अमेरिका में पाया जाता है। इसका रंग पैटर्न बेहद परिवर्तनशील है, जिसमें भूरा, पीला, जैतून या लगभग मैरून होता है। मिडबॉडी, यह रंग आमतौर पर सिर, आगे और पीछे की तुलना में कुछ हल्का होता है।

जराराका के सिर पर एक प्रमुख गहरे भूरे रंग की धारी होती है जो आंख के पीछे से, सिर के दोनों तरफ, मुंह के कोण तक चलती है। जराराका एक आक्रामक स्थलीय सांप है जो अपना अधिकांश समय जमीन पर बिताता है।

इसका जहर काफी जहरीला होता है और एक बार में यह 70 मिलीग्राम जहर इंजेक्ट करता है। जराराका के जहर को चिकित्सा में महत्व दिया जाता है। इस सांप के जहर में पाए जाने वाले पेप्टाइड से बनी दवाओं का उपयोग हाइ ब्लड प्रेशर और हार्ट फैलियर के इलाज के लिए किया जाता है।

20. ग्रीन मांबा (Green Mamba)

Green Mamba

ग्रीन मांबा काफी तेज़ होते हैं, और प्रति घंटे 7 मील तक यात्रा कर सकते हैं। पश्चिमी और पूर्वी अफ़्रीका के घने जंगलों में आपको काजू और नारियल के पेड़ों के बीच एक घातक जीव रेंगता हुआ मिल जाएगा।

इन अत्यधिक विषैले और आश्चर्यजनक रूप से सुंदर सांपों की दो किस्में होती हैं – वेस्टर्न और ईस्टर्न ग्रीन मांबा। इन लंबे पतले सांपों के सिर संकीर्ण होते हैं जो अजीब तरह से ताबूत के आकार के होते हैं।

ग्रीन माम्बा के काटने से कम से कम 30 मिनट में मृत्यु हो सकती है और गंभीर रूप से काटने पर जल्दी ही मौत हो जाती हैं। ये पेड़ों पर रहने वाले प्राणी है, जो शायद ही बिना वजह बाहर आते हैं।

अन्य जहरीले सांपों के विपरीत, जो अपने शिकार को काटने के बाद पकड़ कर रखते हैं, हरे मांबा काटते हैं और तुरंत छोड़ देते हैं। फिर उसके शक्तिशाली जहर से शिकार के मरने की प्रतीक्षा करते हैं।

21. वाइपर (Viper)

Viper snake

वाइपर सांप वाइपरिडे परिवार से संबंधित है जिसकी 200 से अधिक प्रजातियां हैं। अंटार्कटिका, ऑस्ट्रेलिया, आर्कटिक सर्कल के उत्तर, न्यूजीलैंड, मेडागास्कर और हवाई जैसे कुछ द्वीप समूहों को छोड़कर, इस बड़े परिवार की प्रजातियाँ पूरी दुनिया में पाई जाती हैं।

इनकी आंखों के पीछे पाई जाने वाली बड़ी विष ग्रंथियां के कारण, वाइपर सांप का सिर आमतौर पर बड़ा और त्रिकोणीय आकार का होता है। कोबरा और मांबा जैसे अन्य सांपों के विपरीत इनके पैर छोटे और गठीले होते हैं।

वाइपर का जहर मुख्य रूप से हेमोटॉक्सिक है, जिसका अर्थ है कि यह ब्लड पर काम करता है। वाइपर अपने आकार के आधार पर विभिन्न प्रकार के खाद्य पदार्थों का सेवन करते हैं। इसके शिकार में छोटे कृंतक, पक्षी, छिपकलियां और अंडे शामिल हैं।

वाइपर अपने शिकार को ट्रैक करने के लिए रासायनिक संकेतों का उपयोग करते हैं और फिर उस पर घात लगाने से पहले प्रतीक्षा में रहते हैं। वाइपर अपने शिकार में पहले ज़हर इंजेक्ट करता है और फिर उसे मरने के लिए छोड़ देता है।

इनको भी जरूर पढ़े:

निष्कर्ष:

तो ये थे दुनिया के 21 सबसे जहरीले सांप के नाम, हम आशा करते है की इस आर्टिकल को पूरा पढ़ने के बाद आपको दुनिया का सबसे खतरनाक सांप कौन सा है उसके बारे में पूरी जानकारी मिल गयी होगी।

यदि आपको ये आर्टिकल अच्छी लगी तो इसको शेयर अवश्य करें ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को वर्ल्ड का सबसे ज्यादा जहरीला सांप के बारे में सही जानकारी और नाम पता चल पाए।