15 बेस्ट होलसेल बिजनेस आईडिया (जो करोड़पति बना देगा)

होलसेल दो प्रकार के बिजनेस मॉडल को संदर्भित करता है। इसमें पहला मॉडल एक व्यापारी सीधे निर्माताओं से बड़ी मात्रा में सामान खरीदता है, फिर उन्हें वेयरहाउस करता है। इसके बाद वह रीटेल व्यापारियों को बेचता है।

इसके बाद दूसरा प्रकार होलसेल उस बिजनेस को  भी संदर्भित करता है, जो अपने स्वयं के प्रोडक्टस बनाते हैं। फिर उन्हें सीधे खुदरा विक्रेताओं (रिटेलर्स) को बेचते हैं, जो बाद में ग्राहकों को सामान प्रोवाइड करवाते हैं।

इसे हम इस उदाहरण से समझ सकते हैं। हमारे पड़ोस में कोई किरायाना स्टोर की दुकान है। उस दुकान में दुकानदार चीनी बेचता है। ऐसा नहीं है, कि वह चीनी खुद बनाता है। इसके लिए वह होलसेलर से चीनी खरीदता है। जिसमें वो होलसेलर या तो खुद चीनी का उत्पादन करता है, या किसी मैनुफेक्चुरिंग फ़ैक्टरी से चीनी सप्लाई करता है।

होलसेल में कोई भी सामान छोटे पैमाने पर नहीं बेचा जाता है, इसके लिए बड़ी मात्रा में सामान खरीदना पड़ता है। होलसेल बिजनेस को सस्ती कीमत में सामान खरीदने और बेचने की एक एक्टिविटी के रूप में जाना जाता है।

एक थोक व्यापारी (होलसेलर) एक व्यक्ति या फर्म है जो सीधे निर्माता से बड़ी मात्रा में सामान खरीदता है और उन्हें कम मात्रा में दुकानों को बेचता है। एक थोक व्यापारी मुख्य रूप से बिजनेस से उपभोक्ता एक्टिविटी की बजाय बिजनेस से बिजनेस एक्टिविटी में लगा रहता है।

होलसेल बिजनेस क्या है?

wholesale business ideas in hindi

थोक (होलसेल) एक ऐसा बिजनेस है, जो नियमित खुदरा व्यापार (रीटेल बिजनेस) से काफी अलग होता है। थोक का तात्पर्य कम कीमत पर बड़ी मात्रा में माल बेचने से है। एक थोक व्यापारी, एक व्यक्ति या कंपनी है जो बड़ी या थोक मात्रा में उत्पादों की बिक्री की सुविधा प्रदान करती है।

एक थोक व्यापारी विभिन्न खुदरा विक्रेताओं और दुकानों को सामान बेचता है। होलसेल बिजनेस में थोक में और कम कीमत पर उत्पादों की बिक्री शामिल है। इस कारण इस बिजनेस में काफी बड़ी मात्रा में निवेश करना पड़ता है। हालांकि इससे आपकी कमाई भी बड़ी संख्या में ही होगी।

होलसेल बिजनेस कई प्रकार के होते हैं। एक होलसेल बिजनेस merchant होलसेल, ब्रोकर्स या सेल्स और डिस्ट्रिब्यूशन के रूप में होता है। आप चाहे कहाँ के भी रहने वाले हो, आप अपने टैलंट के माध्यम से उद्योग में पैर जमा सकते है। इसके बाद आप एक थोक व्यापारी आसानी से बन सकते हैं।

होलसेल बिजनेस में माल कैसे वितरित किया जाता है? यदि आप एक थोक व्यापारी बनने के इच्छुक हैं, तो होलसेल डिस्ट्रिब्यूशन बहुत आसान है। होलसेलर किसी कंपनी या डिस्ट्रीब्यूटर से सामान खरीदते हैं और उन्हें एक रिटेलर्स को बेचते हैं। एक होलसेलर मार्केट में आने वाली प्रत्येक ट्रेंडिंग वस्तु पर ध्यान रखता है, और फिर रिटेलर्स को सामान प्रोवाइड करवाता है।

होलसेल बिजनेस करने के फायदे

wholesale business karne ke fayde

1. पैसे बचाने का मौका

बड़ी मात्रा में प्रॉडक्टस खरीदने पर आपको निर्माताओं द्वारा कई प्रकार का डिस्काउंट दिया जाता है। इसका मतलब है कि आप कम कीमत पर प्रॉडक्ट खरीदकर उन्हें अधिक कीमतों पर बेच सकते हैं। इस तरह से आप अपने कंपीटीशन में बैठे लोगों से एक कदम आगे होंगे। हालांकि इसके लिए आपको ज्यादा से ज्यादा सामान खरीदना होगा, जो आपकी इनवेस्टमेंट पर निर्भर करता है।

2. बड़ा सप्लायर्स का नेटवर्क बनाना

होलसेलर्स को को निर्माताओं और सप्लायर्स के एक सक्रिय और विश्वसनीय नेटवर्क की आवश्यकता होती है। इसका कारण यह है कि आप समय पर डिलीवरी करने, गुणवत्तापूर्ण प्रोडक्टस बेचने के मामले में ढिलाई नहीं बरत सकते। आपका नेटवर्क जितना बड़ा होगा, आपको उतना ही ज्यादा मुनाफा होगा।

3. आप एक एक्सपर्ट बन सकते हैं

प्रोडक्टस पर रिसर्च, बिक्री और इसे बार-बार करने से, आप उनके विशेषज्ञ बन सकते हैं। चाहे आप जो भी प्रॉडक्ट बेच रहे हों, होलसेल बिजनेस आपको अपने उद्योग और उसके संचालन का नॉलेज प्राप्त करने का अवसर देता है। जैसे-जैसे आपको अपने बिजनेस के बारे में नॉलेज होता जाएगा, वैसे-वैसे आप इस बिजनेस में एक्सपर्ट बनते जाएंगे।

15 बेस्ट होलसेल बिजनेस आइडियाज

wholesale business kaise shuru kare

होलसेल बिजनेस बड़ी मात्रा में प्रॉडक्ट खरीदकर रिटेलर्स को बेचने की एक प्रक्रिया है। इस प्रक्रिया को होलसेल बिजनेस के नाम से जाना जाता है। किसी भी मैनुफेक्चुरिंग कंपनी से होलसेलर कोई सामान खरीदता है, तो उसे वह सस्ती कीमत पर मिलता है। इसके बाद वह रिटेलर्स को थोड़ी ज्यादा कीमत पर माल बेचता है।

होलसेल का बिजनेस भारत में सबसे लाभदायक बिजनेस में से एक है, क्योंकि यह दुनिया में दूसरा सबसे ज्यादा आबादी वाला देश है। जिस कारण वस्तुओं की मांग लगातार बनी रहती है। अगर आप होलसेल बिजनेस करना चाहते हैं, तो आज हम आपको कुछ बढ़िया होलसेल बिजनेस आइडियाज के बारे में बताएँगे।

1. एग्रोकेमिकल

हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि भारत कृषि पर निर्भर देश है और हमारे देश की अधिकांश भूमि कृषि के लिए उपयोग की जाती है। इस प्रकार यह बिजनेस शुरू करने के लिए सबसे अच्छे होलसेल बिजनेस में से एक हो सकता है। कृषि में उपयोग होने वाले विभिन्न प्रकार के उपकरण इस बिजनेस के लिए राह खोलते हैं।

अधिकांश रिटेलर्स कृषि में उपयोग की जा रही नवीनतम तकनीकों को जानने के लिए बहुत उत्सुक हैं। इन तकनीकों में जैविक बीजों और फसलों के लिए उर्वरक, कीटनाशक और कुछ भारी निर्मित मशीनरी भी हैं। इसके अलावा ट्रैक्टर भी हैं, जो खेतों में उपयोग किए जाने वाले प्रमुख भारी परिवहन में से एक हैं।

यदि आपके पास बाहर की जमीन है या आप ग्रामीण इलाकों में बिजनेस शुरू करने की योजना बना रहे हैं, तो एग्रोकेमिकल्स में निवेश करने का सुझाव दिया जाता है जो बड़ी सफलता और मुनाफा भी देगा। आप बड़ी मात्रा में खाद, बीज, कीटनाशक आदि का होलसेल बिजनेस कर सकते हैं।

2. घरेलू उपकरण (Home Appliances)

भारत में इलेक्ट्रॉनिक्स और उपकरण उद्योग आने वाले वर्षों में रिकॉर्ड ऊंचाई तक पहुंचे का अनुमान है। इस अनुमान को बढ़ी हुई घरेलू आय, बदलती जलवायु परिस्थितियों और एक कामकाजी आबादी ने हकीकत बनाया है। जो बेहतर नौकरी के अवसरों की तलाश में पलायन करते रहते हैं।

बढ़ती आबादी को देखते हुए, यह निष्कर्ष निकालना उचित है कि घरेलू उपकरण भारत में सबसे अच्छे होलसेल बिजनेस में से एक हैं। फिर भी अपना बिजनेस शुरू करने से पहले लोकेशन का व्यापक सर्वेक्षण अवश्य करें। उपभोक्ता की प्राथमिकताओं को पहचानें और अपने निवेश को अच्छे से लगाएँ।

फिर उसी के अनुसार अपने स्टॉक की योजना बनाएं। यदि आपका होलसेल नेटवर्क ग्रामीण क्षेत्रों तक सीमित है, जहां बिजली की गंभीर कमी है, तो एयर कंडीशनर और रेफ्रिजरेटर जैसे बड़े उपकरणों के बिकने की संभावना नहीं है। इस कारण आपको पहले अच्छे से रिसर्च करनी है, फिर उसी के अनुसार ही घरेलू उपकरण के सामान खरीदने होंगे।

3. मेडिकल सप्लाई

आप भारत में मेडिकल सामान की सप्लाई के लिए एक होलसेलर बन सकते और भारत के फलते-फूलते इस क्षेत्र का फायदा उठा सकते हैं। भारत medicinal practices का केंद्र बिंदु बन गया है। मेडिकल क्षेत्र में बढ़ती दिलचस्पी ने इस तरह के बिजनेस के कई रास्ते खोल दिए हैं।

अस्पतालों और अच्छे स्वास्थ्य के लिए जागरूकता होने से आपके बिजनेस को और अधिक फायदा होने वाला है। आप क्लिनिकल स्टोर्स में आयुर्वेद चिकित्सा दवाएं उपलब्ध कराने के होलसेल बिजनेस को शुरू कर सकते हैं। यह एक अत्यधिक मांग वाला क्षेत्र है, इस कारण आपको निश्चित तौर पर फायदा होने वाला है।

इसके अलावा आप किसी अन्य चिकित्सा क्षेत्र जैसे डायग्नोस्टिक्स, ऑर्थोपेडिक, गायनोकोलॉजिकल, फिजियोथेरेपी आदि में अपना हाथ आजमा सकते हैं। साथ ही आप दस्ताने, बैंडेज, मास्क, पेशेंट मॉनिटर, ऑक्सीजन सिलेंडर आदि जैसी सामान्य चिकित्सा वस्तुओं के होलसेलर बन सकते हैं।

4. Home Decor और Furnishings

होम डेकोर और फर्निशिंग उद्योग भारत में सबसे तेजी से बढ़ते क्षेत्रों में से एक है। ऐसा इसलिए है क्योंकि अधिक से अधिक लोग अपने खुद के घर बना रहे हैं। जिसका अर्थ है कि उन्हें अपने घर के लिए फर्नीचर और अन्य घरेलू सामान खरीदने की जरूरत है। जिस कारण बाजार में इनकी लगातार मांग बढ़ रही है।

प्रत्येक परिवार के लिए फर्नीचर एक आवश्यक वस्तु है, क्योंकि एक अच्छे घर में अच्छा फर्नीचर लगा होता है। फर्नीचर से संबधित किया गया कोई भी बिजनेस हमेशा अच्छा रिटर्न देता है। आजकल लोगों को सुविधाजनक, बहुउद्देशीय और हल्के फर्निशिंग की आवश्यकता होती है।

आप इस बिजनेस में विभिन्न प्रकार के प्रोडक्टस बेच सकते हैं। जैसे कि फर्नीचर, सोफा, कुर्सियाँ और बिस्तर आदि। आप अपने शहर के भीतर या पूरे भारत में अपनी सर्विस दे सकते हैं। घर की सजावट में उपयोग होने वाली और भी अधिक वस्तुएँ हैं, जिनको आप अपने होलसेल बिजनेस के माध्यम से बेच सकते हैं।

5. मोबाइल फोन डिस्ट्रीब्यूटर

मोबाइल फोन उद्योग भारत में सबसे अधिक लाभदायक होलसेल बिजनेस में से एक है। ऐसा इसलिए है क्योंकि बहुत सारे लोग हैं जो हर साल एक नया स्मार्टफोन खरीदते हैं। बाजार में मोबाइल फोन और इससे जुड़ी एसेसरिज की लगातार मांग बढ़ रही है। इस कारण आप मोबाइल फोन का होलसेल बिजनेस शुरू कर सकते हैं।

आप अपने शहर या आसपास के शहरों और गांवों की दुकान पर यह सामान सप्लाई कर सकते हैं। अगर आपकी पैकेजिंग और ट्रांसपोर्ट सुविधा बेहतरीन है, तो आप इस बिजनेस को पूरे देश में भी फैला सकते हैं। हालांकि ऐसा करने के लिए आपको थोड़े ज्यादा निवेश की आवश्यकता होगी।

इसके अलावा पूरे देश में बढ़ती मोबाइल कनेक्टिविटी के कारण कई टेलीकॉम प्रोडक्टस की मांग बढ़ रही है। साथ ही इस बढ़ती मांग का एक प्रमुख कारण डिजिटलीकरण भी है। इसलिए एक टेलिकॉम प्रॉडक्ट होलसेल बिजनेस शुरू करना उन व्यक्तियों के लिए एक अत्यधिक आकर्षक अवसर है जो इस उद्योग में बिजनेस शुरू करना चाहते हैं।

6. ज्वेलरी

ज्वेलरी हमेशा मांग में रहने वाली वस्तु है, वो भी बहुत बड़ी मात्रा में। भारतीय महिलाओं की ज्वेलरी के प्रति काफी रुचि है। चाहे कोई त्यौहार हो, शादी हो या यहां तक कि जन्मदिन और शादी की सालगिरह जैसे व्यक्तिगत अवसर हों, भारतीय ज्वेलरी हमेशा मांग में रहती हैं।

सकल घरेलू उत्पाद (GDP) में इस उद्योग का भी महत्वपूर्ण योगदान है, जो कुल उत्पादन का 7% है। ज्वेलरी और रत्न बिजनेस का कुल व्यापारिक निर्यात लगभग 12% है। आप या तो अपना स्टोर खोल सकते हैं या किसी प्रसिद्ध ज्वैलर्स की फ्रेंचाइजी ले सकते हैं।

हालांकि, यह जितना अधिक आकर्षक प्रतीत होता है, ज्वेलरी के होलसेल बिजनेस के लिए उतने ही अधिक धन की आवश्यकता होती है। इस स्थिति में आर्थिक सहायता पाने के लिए आप बिजनेस लोन ले सकते हैं। आप अपने आसपास की दुकानों और सुनारों से ज्वेलरी लेने के लिए संपर्क कर सकते हैं।

7. Organic Food

ओर्गेनिक फूड की मांग हर रोज बढ़ रही है, चाहे कोई विकसित या विकासशील देश हो। Organic Food ऑफलाइन के साथ-साथ ऑनलाइन भी बेचे जाते हैं। ऐसी कई कंपनियां हैं, जो विशिष्ट क्षेत्रों में होलसेलर्स की मदद से अपने प्रोडक्टस को बेचने की तलाश में हैं।

भारत एक संसाधन संपन्न देश होने के कारण, कृषि सामग्री के लिए शायद ही कभी कृत्रिम वस्तुओं का उपयोग करता है। जैविक फूड का होलसेल बिजनेस करने से न केवल घरेलू स्तर पर बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी आपके बिजनेस में वृद्धि होगी। पिछले कुछ वर्षों से जैविक खाद्य पदार्थों ने लोगों को काफी आकर्षित किया है।

चूंकि यह एक बढ़ता हुआ उद्योग है, इसलिए इस बाजार पर कब्जा करने से आपके बिजनेस में घरेलू स्तर पर वृद्धि होगी। अगर आप गांव में होलसेल बिजनेस आइडिया की तलाश में हैं तो यह आइडिया सबसे अच्छा हो सकता है। देश में Organic food को असाधारण स्तर पर स्वीकार किया जा रहा है क्योंकि हर कोई अपने आप को स्वस्थ रखना चाहता है।

यह फूड आइटम स्टोर के साथ-साथ वेब के माध्यम से बेचे जाते हैं। फूड बनाने वाला हमेशा अपने सामान बेचने के लिए देश के कोने-कोने में होल-सेलर्स की तलाश में रहते हैं। ओर्गेनिक फूड के होलसेल बिजनेस पर ध्यान केंद्रित करने से स्थानीय और विश्वव्यापी दोनों तरह की सुविधा मिलती है।

8. स्पोर्ट्स आइटम्स

स्पोर्ट्स आइटम्स का होलसेल बिजनेस करना काफी लाभदायक है, क्योंकि भारत में स्पोर्ट्स के प्रति काफी जागरूकता बढ़ रही है। स्पोर्ट्स बहुत प्रकार के होते हैं, इस कारण इनसे संबधित प्रोडक्टस भी बहुत प्रकार के होते हैं। आप स्पोर्ट्स से संबधित वस्तुओं का होलसेल बिजनेस पार्ट टाइम बिजनेस के रूप में भी कर सकते हैं।

स्पोर्ट्स आइटम्स बेचने के लिए आप अपने शहर की स्पोर्ट्स दुकानों का रुख कर सकते हैं, जो अक्सर किसी खेल स्टेडियम के पास होती है। इसके अलावा आप खिलाड़ियों की किट, टी-शर्ट, लोअर, दस्ताने, शूज आदि भी सप्लाइ कर सकते हैं। इस बात का ध्यान रखें यह सभी स्पोर्ट्स के लिए अलग होती है।

9. कॉस्मेटिक प्रोडक्टस

कॉस्मेटिक्स उद्योग एक तेजी से उभरता उद्योग है। हालांकि बिक्री के मामले में वर्ष 2020 बहुत खराब रहा है, लेकिन यह मजबूती से वापसी कर रहा है। कहा जा रहा है कि आने वाले भविष्य में यह उद्योग काफी आकर्षक बना रहेगा।

ब्यूटी और पर्सनल केयर मार्केट 24.53 अरब अमेरिकी डॉलर होने का अनुमान है और 2027 तक 33.33 अरब अमेरिकी डॉलर तक पहुंचने की उम्मीद है, जो 6.32% की सीएजीआर से बढ़ रहा है। आंख, चेहरे और होंठ से संबंधित कॉस्मेटिक प्रोडक्टस भारत में सबसे ज्यादा पोपुलर है।

इंटरनेट की बढ़ती पहुंच के साथ, भारत में पिछले 3-4 वर्षों में वस्तुओं की खरीद के लिए ऑनलाइन बाजार में तेजी से वृद्धि देखी गई है। हर कोई सुंदर दिखना पसंद करता है, इस करना इन वस्तुओं की मांग लगातार बनी रहती है। पहले महिलाओं में कॉस्मेटिक प्रोडक्टस की काफी ज्यादा मांग थी, लेकिन आजकल पुरुष भी इनका उपयोग कर रहे हैं।

10. ऑटोमोबाइल प्रोडक्टस

कार और बाइक के उपयोग में कुछ वर्षों से अभूतपूर्व वृद्धि देखी गई है। इस कारण ऑटोमोबाइल के रखरखाव और मरम्मत की आवश्यकता ऑटोमैटिक रूप से बढ़ जाती है। जिस कारण होलसेल बिजनेस में ऑटो एक्सेसरीज़ और स्पेयर पार्ट्स की बिक्री के काफी बढ़ जाती है।

यह बिजनेस आपको उच्च लाभ कमा सकता है। यह भारत में सबसे अच्छे होलसेल बिजनेस में से एक है। भारत का आटोमोबाइल क्षेत्र धीरे-धीरे विस्तार कर रहा है, और इस क्षेत्र में अपना बिजनेस स्थापित करने का यह एक अच्छा समय हो सकता है। ऑटोमोटिव स्पेयर पार्ट्स उद्योग का मूल्य वर्तमान में 7 बिलियन अमरीकी डालर है, जिसमें कुल निर्यात 15 बिलियन अमरीकी डालर है।

इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवी) की बढ़ती लोकप्रियता के साथ, ऑटोमोटिव स्पेयर पार्ट्स की मांग बढ़ना तय है। इस उद्योग में एक होलसेलर के रूप में, आप बैटरी, स्पेयर पार्ट्स, हाई-एंड एक्सेसरीज़, टायर और बहुत कुछ की सप्लाई कर सकते हैं। इस्तेमाल की गई कार के पुर्जों में भी काफी गुंजाइश है। इस तरह के पुर्जे सस्ते होते हैं और इनमें भारी मुनाफा होता है।

11. खिलौने

इन दिनों बच्चों के खिलौने मार्केट में एक नए बिजनेस को पैदा कर रहे हैं। यह एक ऐसा उद्योग है जो कभी स्थिर नहीं होगा। इस होलसेल बिजनेस को शुरू करने के लिए कच्चे माल के साथ-साथ इसके निर्माण के लिए आवश्यक प्रोटोटाइप भी आपको तय करने होंगे।

आपको बाजार में बहुत सारी रेडीमेड मशीनरी मिल जाएगी जो आपको बहुत सारे निवेश को कम करने में मदद करेगी। यह उद्योग बच्चों के खिलौनों में बहुत सारे अनूठे डिजाइन लेकर आ रहा है और इसके साथ ही थोक खुदरा बाजार भी बढ़ रहा है। इन खिलौनों को बाहरी देशों में आयात करना एक अन्य बिजनेस है, जो सर्वोत्तम रिटर्न प्रदान कर सकता है।

भारतीय खिलौना उद्योग की मार्केट वैल्यू 1.5 अरब डॉलर है जो वैश्विक बाजार हिस्सेदारी का 0.5% है। भारत में खिलौना निर्माता ज्यादातर एनसीआर, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु और मध्य भारतीय राज्यों में स्थित हैं। इस बाजार का 90% हिस्सा असंगठित होने और एमएसएमई क्षेत्र से 4,000 खिलौना उद्योग इकाइयों के साथ खंडित है।

भारत में खिलौना उद्योग में 2024 तक 2-3 अरब डॉलर तक बढ़ने का अनुमान है। भारतीय खिलौना उद्योग वैश्विक उद्योग के आकार का केवल 0.5% है जो एक बड़े संभावित विकास अवसर का संकेत देता है। वैश्विक औसत 5% के मुकाबले घरेलू खिलौनों की मांग 10-15% बढ़ने का अनुमान है।

12. टेक्सटाइल होलसेल

होलसेल बिजनेस की की प्राथमिकता सूची में टेक्सटाइल सबसे ऊपर है। यह न केवल एक लाभदायक बिजनेस है, बल्कि यह लचीलापन भी प्रदान करता है। धागे, कपड़े के धागे, घरेलू सामान, तैयार कपड़े, जूते आदि सभी इसी के अंतर्गत आते हैं। यह विविधता इस बिजनेस में ज्यादा प्रॉफ़िट कमाने का मौका देती है। शुरुआत में आपको कपड़ा मिलों से परिचित होना होगा।

बहुत लंबे समय से भारत का टेक्सटाइल मार्केट विश्व प्रसिद्ध है। टेक्सटाइल से संबंधित प्रॉडक्ट वे हैं जो न केवल भारत में बल्कि पूरे विश्व में होलसेल मार्केट में पहला स्थान रखते हैं। इसका दायरा बहुत बड़ा है। फुटवियर से लेकर होम फर्निशिंग, थ्रेड्स से लेकर फैब्रिक, रेडीमेड कपड़े, गारमेंट्स आदि।

टेक्सटाइल क्षेत्र में व्यवसाय शुरू करने से पहले क्षेत्र के बारे में अच्छी तरह से रिसर्च करनी चाहिए। अगर आप सही रणनीति का पालन करते हैं तो यहां रिटर्न बहुत अच्छा है। इसके अलावा आपको कपड़ों की अच्छी परख होनी चाहिए, एवं आप जिस मैनुफेक्चुरिंग कंपनी से प्रॉडक्ट उठा रहे हैं, उनके माल में क्वालिटी होनी चाहिए।

13. फुटवियर

हम जूते के बिना नहीं कर सकते। इसलिए फुटवियर एक उत्कृष्ट होलसेल बिजनेस आइडिया है। विभिन्न आयु-वर्ग, लिंग और लोगों के वर्ग के लिए बहुत प्रकार के जूते बनाए और बेचे जाते हैं। आप निर्माताओं से विभिन्न प्रकार के जूतों का स्टॉक करके इस किस्म का उपयोग कर सकते हैं।

इसके अलावा ऑनलाइन बिक्री भी एक लाभदायक विकल्प है। जूते एक आवश्यकता और एक फैशन दोनों माने जाते हैं। लिंग, उम्र, स्थिति की परवाह किए बिना सभी को जूते चाहिए। अधिकांश लोगों के पास कई उद्देश्यों के लिए एक से अधिक जोड़ी जूते होते हैं। जैसे जॉगिंग, खेलना, फॉर्मल वस्त्र, कैज्वल वस्त्र, बच्चों के वस्त्र, फैंसी जूते पहनना और कई अन्य।

यह एक बहुमुखी बिजनेस है और वर्तमान में वैश्विक स्तर पर 100.479 बिलियन डॉलर की हिस्सेदारी है और हर साल 7.1% बढ़ने की उम्मीद है। इस बिजनेस को करने के लिए आपको प्लानिंग बनानी होगी, क्योंकि इसमें सभी आवश्यक जानकारी और गतिविधियों की एक सूची होती है। हम इनका स्टेप वाइज़ स्टेप पालन करते हैं।

14. ग्रोसरी (किराना)

किराना होलसेल बिजनेस न केवल एक लाभदायक बिजनेस आइडिया है, बल्कि एक स्थिर व्यवसाय भी है क्योंकि हम सभी को हर दिन किराने की वस्तुओं की आवश्यकता होती है। किराने की वस्तुओं के लिए आपको एक अच्छी दुकान की आवश्यकता होगी। अनाज, खाद्य तेल, मसाले, आदि जैसी वस्तुओं का आप स्टॉक करने होंगे।

उन उत्पादों पर स्टॉक करें जिनकी स्थानीय स्तर पर अधिकतम मांग है। किराना बिजनेस में घरेलू जरूरतों जैसे अनाज, आटा, चावल, दाल आदि को दूकानदारों को बेचा जाता हैं। इसके अलावा घरेलू उपयोग के लिए प्लास्टिक उत्पाद जैसे मग, बाल्टी आदि और साबुन, डिटर्जेंट जैसे सफाई उत्पाद भी इसी के अंतर्गत आते हैं।

ग्रोसरी होलसेल बिजनेस भारत में गाँव से लेकर शहर तक फैला हुआ है। इसलिए इस बिजनेस में आपको काफी कंपीटीशन देखने को मिलेगा। ग्रोसरी बिजनेस में सफल होने के लिए आपको नई-नई रणनीतियों का उपयोग करना होगा।

15. कंप्यूटर और लैपटॉप

कंप्यूटर और लैपटॉप का बहुत बड़ा बाजार है। इन चीजों पर रोजाना लाखों रुपए खर्च किए जाते हैं। इसलिए कंप्यूटर और लैपटॉप का होलसेल बिजनेस एक आकर्षक होलसेल बिजनेस आइडिया है। इसके लिए आपको एक अच्छे आधार की आवश्यकता होगी।

प्रसिद्ध निर्माताओं से आइटम खरीदें और उन्हें खुदरा विक्रेताओं या सीधे ग्राहकों को बेचें। शॉपिंग मॉल जैसी व्यस्त जगह पर एक स्टोर आपकी बहुत मदद करेगा। कंप्यूटर उद्योग हाल के दिनों में सबसे अधिक कंपीटीशन बिजनेस में से एक है। यह लगातार विकसित हो रहा है।

लगभग सभी प्रतिष्ठानों और घरों में कम से कम एक कंप्यूटर होता है। निश्चित रूप से इस तरह के बिजनेस का काफी बड़ा मार्केट है। अच्छी मार्केटिंग रणनीतियाँ इस होलसेल बिजनेस को ऊंचाइयों पर ले जाएगी।

यदि आप एक नए व्यवसायी हैं और कंप्यूटर का ज्यादा नॉलेज नहीं हैं। तो आप हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर और एक्सेसरीज से लेकर कंप्यूटर के बारे में सब कुछ पढ़कर और समझकर शुरुआत कर सकते हैं। ऐसा करके आप खुद को उस उद्योग से परिचित करा रहे हैं जिसमें आप प्रवेश कर रहे हैं। यदि आपको कंप्यूटर का अच्छा नॉलेज हैं तो यह आपके लिए एक प्लस फैक्टर है।

इनको भी जरुर पढ़े:

निष्कर्ष:

तो दोस्तों ये थे कुछ बेस्ट होलसेल बिजनेस आइडियाज, हम उम्मीद करते है की इस पोस्ट को पूरा पढ़ने के बाद आपको होलसेल का बिजनेस कैसे स्टार्ट करें इसके बारे में पूरी जानकारी मिल गयी होगी.

अगर आपको हमारी पोस्ट अच्छी लगी तो प्लीज इसको शेयर जरुर करें ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगो को होलसेल बिजनेस शुरू करेने के अच्छे आईडिया मिल पाए.

इसके अलावा अगर आपके दिमाग में और दुसरे बिजनेस आईडिया या प्लान है तो उसको हमारे साथ निचे कमेंट में जरुर शेयर करे.