अश्वगंधा और शतावरी से वजन कैसे बढ़ाएं | Ashwagandha and Shatavari for Weight Gain Hindi

अश्वगंधा और शतावरी जैसी शुद्ध जड़ी-बूटियों की क्षमता से हमारा आयुर्वेद अच्छी तरह वाकिफ है। हमारे शरीर की मांसपेशियों को मजबूत बनाने और वजन बढ़ाने के लिए इनके बहुत सारे फायदे हैं।

कुछ समस्या यह भी है कि कोई भी इस प्राचीन आयुर्वेदिक औषधि की शक्ति को नहीं जानता है। लेकिन अगर आप इनके बारे में गहराई से जानते हैं, तो आपके इनके मुरीद बन जाएंगे।

शारीरिक रूप से दुबले लोग चाहते हैं कि उनका शरीर भी सामान्य लोगों जैसा ही दिखे। इसके लिए लोग बाजार में मिलने वाले तरह-तरह के प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करने लगते हैं।

इन प्रोडक्टस के कुछ दुष्प्रभाव भी होते हैं। ऐसे में अश्वगंधा और शतावरी जैसी आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों का चुनाव काफी फायदेमंद हो सकता है। परंतु आपको इनका उपयोग करने से पहले अपने चिकित्सक

वजन बढ़ाने का सबसे असरदार तरीका है अश्वगंधा और शतावरी दोनों को मिलाकर दूध के साथ लेना। इससे बहुत आसानी से और जल्दी वजन बढ़ाने में मदद मिलती है।

एक और प्रभावी तरीका यह है कि इस इनके मिश्रण को शहद के साथ सेवन करना चाहिए। क्योंकि यह प्रोटीन में उच्च होता है और साथ ही आसानी से वजन बढ़ाने में मदद करता है।

अश्वगंधा क्या है?

ashwagandha kya hai

विथानिया सोमनीफेरा, जिसे अश्वगंधा भी कहा जाता है। यह एक जड़ी-बूटी है, जिसका उपयोग पारंपरिक अफ्रीकी और भारतीय चिकित्सा में एडाप्टोजेन के रूप में किया जाता है।

Adaptogens से माना जाता है, कि आपके शरीर को मानसिक से लेकर शारीरिक तक सभी प्रकार के तनाव से निपटने (या अनुकूलन) में मदद मिलती है।

विभिन्न हैल्थ प्रॉबलम्स की इलाज के लिएआयुर्वेदिक चिकित्सा अश्वगंधा की जड़ और जामुन का उपयोग करती है, जिसे विंटर चेरी या भारतीय जिनसेंग के रूप में भी जाना जाता है।

आयुर्वेदिक चिकित्सा अश्वगंधा का उपयोग करती है, जिसे अक्सर आहार सप्लीमेंट के रूप में भारतीय जिनसेंग के रूप में जाना जाता है। नींद की कमी, चिंता, उदासी, यौन क्रिया के दौरान कठिनाइयाँ, कमजोरी, न्यूरोजेनरेटिव बीमारी और गठिया कुछ ऐसे मुद्दे हैं, जिनमें अश्वगंधा मदद करता है।

आयुर्वेद और अश्वगंधा यूनानी, सिद्ध, अफ्रीकी और होम्योपैथिक चिकित्सा में विभिन्न बीमारियों का इलाज करते हैं। इसके अलावा आज के समय में कुछ लोग वजन बढ़ाने के लिए भी इसका इस्तेमाल करते हैं।

शतावरी क्या है?

shatavari kya hai

शतावरी एक औषधीय जड़ी बूटी है, जिसे आयुर्वेदिक चिकित्सा में उपयोग की जाने वाली सबसे शक्तिशाली जड़ी बूटियों में से एक माना जाता है। यह एक एडाप्टोजेन है, जिसका अर्थ है कि यह शरीर को संतुलन या होमोस्टैसिस की स्थिति में वापस लाने के लिए आवश्यक चीजें देती है।

इसके कई उपयोग हैं, लेकिन महिलाओं के लिए टॉनिक के रूप में इसके गुणों के लिए सबसे अच्छी तरह से जाना जाता है। शतावरी पौधे का लैटिन नाम शतावरी रेसमोसस या जंगली शतावरी है।

यह भारत की मूल जड़ी-बूटी है। परंतु आज के समय में यह एशिया, ऑस्ट्रेलिया और अफ्रीका के उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में पाई जाती है। ऐसा कहा जाता है कि पुरुषों और महिलाओं दोनों के लिए शतावरी पाचन में सुधार, तनाव कम, कामेच्छा बढ़ाती और इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाती है।

शतावरी को हर उम्र और जीवन के हर चरण में मददगार माना जाता है। इसका स्वाद कड़वा होता है। इसे पाउडर, लिक्विड या कैप्सूल के रूप में सेवन किया जाता है।

कुछ लोग शतावरी को लगातार सेवन करने की बजाय विशिष्ट स्थितियों के इलाज के लिए निश्चित समय पर ही इसका उपयोग करने की सलाह देते हैं। इसके अलावा इसका उपयोग वजन बढ़ाने के लिए भी किया जाता है।

आयुर्वेदिक चिकित्सा में शतावरी को वात और पित्त दोनों दोषों को संतुलित करने में मददगार माना जाता है। यह कफ को थोड़ा बढ़ाता है, इसलिए यह कफ से परेशान व्यक्तियों के लिए उपयुक्त नहीं है।

अश्वगंधा और शतावरी से वजन कैसे बढ़ाएं?

ashwagandha and shatavari for weight gain in hindi

वजन बढ़ाने के लिए अश्वगंधा और शतावरी का इस्तेमाल काफी कारगर साबित हो सकता है। यह दो अलग-अलग रिसर्च को देखने से स्पष्ट होता है। मुर्गियों पर आधारित अश्वगंधा से संबंधित एक शोध में पाया गया कि यह पाचक रसों की सक्रियता को बढ़ाकर भूख को बढ़ाता है।

इसके साथ ही यह पाचन क्रिया को मजबूत करने में भी मदद करता है। इन दोनों गुणों के कारण इसे वजन बढ़ाने के साधन के रूप में उपयोगी माना जा सकता है।

वहीं, शतावरी से जुड़े एक शोध में पाया गया कि इसका कामोत्तेजक (यौन इच्छा को बढ़ावा देने वाला) गुण वजन बढ़ाने में मददगार हो सकता है। इतना ही नहीं अश्वगंधा और शतावरी का एक साथ सेवन वजन बढ़ाने के लिए ज्यादा कारगर माना जाता है।

एक अन्य शोध में इस बात को एक्सैप्ट किया गया है। शोध में इस बात का जिक्र है कि अश्वगंधा और शतावरी को एक साथ लेने से वजन बढ़ने के मामले में ज्यादा सकारात्मक प्रभाव देखने को मिले।

इन सभी तथ्यों को देखते हुए यह माना जा सकता है कि अश्वगंधा और शतावरी का चूर्ण या मिश्रण वजन बढ़ाने में काफी उपयोगी होता है। हालांकि इस संबंध में अभी इंसानों पर शोध किए जाने की जरूरत है।

वजन बढ़ाने के लिए अश्वगंधा और शतावरी का सेवन कैसे करें?

ashwagandha aur shatavari ka upyog kaise kare

वजन बढ़ाने के लिए अश्वगंधा और शतावरी किस तरह फायदेमंद हैं, यह तो हम जान ही चुके हैं। ऐसे में अश्वगंधा शतावरी के फायदे पाने के लिए इसके सेवन के तरीके जानना जरूरी है।

तो आइए जानते हैं वजन बढ़ाने के लिए अश्वगंधा और शतावरी के इस्तेमाल के कुछ आसान तरीके, जो इस प्रकार हैं:

1. चूर्ण के रूप में

अश्वगंधा और शतावरी का चूर्ण या पाउडर बाजार में आसानी से मिल जाता है। दोनों को अलग-अलग 100 या 200 ग्राम लेकर बराबर वजन के हिसाब से आपस में मिला लें।

इस मिश्रण को रोजाना सुबह नाश्ते के साथ और रात को सोते समय एक गिलास दूध में एक चम्मच मिलाकर इस्तेमाल किया जा सकता है। इन दोनों के गुण आपस में मिलकर वजन बढ़ाने में सहायता करते हैं।

2. इनकी जड़ को घर में पीसकर

लेख में हम आपको पहले ही बता चुके हैं कि अश्वगंधा और शतावरी दोनों ही जड़ी-बूटियां हैं। ऐसे में अगर ये दोनों किसी के पास आसानी से उपलब्ध हों तो घर पर ही इनका पाउडर तैयार किया जा सकता है।

इसके लिए इन दोनों हर्ब्स को अच्छे से धोकर धूप में सुखा लें। इसके बाद इसे बराबर मात्रा में लेकर मिक्सी या जाले में पीसकर महीन चूर्ण बना लें। फिर इसे एक बंद डिब्बे में रख दें।

घर में बने इस अश्वगंधा और शतावरी के चूर्ण को एक गिलास गुनगुने दूध में एक चम्मच मिलाकर सुबह या शाम इस्तेमाल किया जा सकता है। इसको बनाना आसान और सस्ता है।

3. गोली या कैप्सूल के रूप में

अश्वगंधा और शतावरी चूर्ण के फायदे तो काफी सारे हैं। इसके अलावा अश्वगंधा और शतावरी के चूर्ण और टैबलेट भी बाजार में उपलब्ध हैं। वजन बढ़ाने के लिए डॉक्टर की सलाह पर भी इन कैप्सूल का इस्तेमाल किया जा सकता है।

नोट:- वजन बढ़ाने के लिए अश्वगंधा और शतावरी के प्रयोग के साथ-साथ डाइट का भी विशेष ध्यान रखना आवश्यक है। अगर आप अंसतुलित रूप से डाइट लेते हैं, तो इससे आपकी हैल्थ पर नेगेटिव इफेक्ट देखने को मिल सकते हैं।

अश्वगंधा और शतावरी की डेली खुराक

ashwagandha aur shatavari kab khana chahiye

अश्वगंधा और शतावरी चूर्ण के फायदे और इसका इस्तेमाल कैसे करना है, यह जानने के बाद यह समझना भी जरूरी है कि प्रतिदिन कितनी खुराक लेना सुरक्षित है।

तो हम आपको बता दें कि अश्वगंधा को दिन में 3 ग्राम तक लेना सुरक्षित माना जाता है। वहीं एक दिन में 2 ग्राम शतावरी का सेवन काफी है। वहीं वजन बढ़ाने में अश्वगंधा और शतावरी की मात्रा 2.5 ग्राम अश्वगंधा और 2.5 ग्राम शतावरी है।

इस आधार पर हम इन दोनों जड़ी बूटियों से तैयार पांच ग्राम चूर्ण को सुरक्षित दैनिक खुराक मान सकते हैं। हालांकि व्यक्ति की शारीरिक स्थिति और उम्र के आधार पर इस खुराक में बदलाव किया जा सकता है।

अश्वगंधा व शतावरी के नुकसान और सावधानियां

बेशक प्राकृतिक जड़ी-बूटी होने के कारण अश्वगंधा और शतावरी दुबले शरीर वाले लोगों में वजन बढ़ाने में फायदेमंद होते हैं। लेकिन इसे इस्तेमाल करने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना भी जरूरी है।

कारण यह है कि किसी खास प्रॉबलम या बीमारी की वजह से कई लोगों को इससे नुकसान हो सकता है। ऐसे में अश्वगंधा और शतावरी के कुछ दुष्प्रभाव इस प्रकार देखे जा सकते हैं।

  • गर्भवती महिलाओं को बिना डॉक्टर की सलाह के इसका सेवन नहीं करना चाहिए। कारण यह है कि गर्भावस्था में शतावरी का अधिक मात्रा में सेवन करने से शिशु का विकास रुक सकता है।
  • अश्वगंधा का अधिक मात्रा में सेवन करने से गैस, पेट में दर्द और उल्टी और जी मिचलाने की समस्या हो सकती है।
  • वहीं, शतावरी के अधिक इस्तेमाल से शरीर में सूजन आ सकती है। साथ ही फेफड़ों और त्वचा से जुड़ी कुछ समस्याएं भी हो सकती हैं।
  • अश्वगंधा का प्रयोग रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय के रूप में भी किया जाता है। ऐसे में इसका अधिक मात्रा में इस्तेमाल करने से ऑटोइम्यून डिजीज (अतिसक्रिय रोग प्रतिरोधक क्षमता के कारण होने वाले रोग) हो सकते हैं।
  • इसके अलावा इससे मल्टीपल स्केलेरोसिस (नसों की सुरक्षात्मक परत का नष्ट होना), ल्यूपस (एक विकार जो मस्तिष्क, हृदय, त्वचा, गुर्दे और रक्त कोशिकाओं को प्रभावित करता है) और गठिया (जोड़ों का दर्द और सूजन) जैसी समस्याएं शामिल हैं।
  • अश्वगंधा थायराइड हार्मोन को भी सक्रिय करता है। हाइपरथायराइड की स्थिति में भी इसका सेवन न करने की सलाह दी जाती है।

इनको भी जरुर पढ़े:

निष्कर्ष:

तो मित्रों ये था हमारा आर्टिकल अश्वगंधा और शतावरी से वजन कैसे बढ़ाएं, अगर आपने हमारे बताये गए तरीके से अश्वगंधा और शतावरी का उपयोग किया तब आपका वेट बढ़ना शुरू हो जायेगा.

यदि आपको हमारी पोस्ट अच्छी लगी तो प्लीज इसको शेयर जरुर करें, ताकि अधिक से अधिक लोगों को अपना वजन बढ़ाने में हेल्प मिल पाए.

इसके अलावा वजन बढ़ाने से रिलेटेड यदि आपको हमसे कोई भी डाउट पूछना है तो उसको आप हमसे कमेंट में पूछ सकते है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

X